जिला न्यायाधीश रघुवंशी ने किया नेशनल लोक अदातल का उद्घाटन, लोक अदालत में आपसी सुलह व समझौते से 469 प्रकरणों का निराकरण

 जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष महोदय, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्योपुर मा. श्री एस.एस. रघुवंशी के मार्गदर्शन में आज जिला न्यायालय श्योपुर एवं तहसील न्यायालय विजयपुर में नेशनल लोक अदालत आयोजित की गई।

   जिला न्यायालय में नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष महोदय, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्योपुर श्री एस.एस. रघुवंशी द्वारा गांधी जी के चित्र पर माल्यापर्ण एवं द्वीप प्रज्वलित किया। इस अवसर पर विशेष न्यायाधीश, श्योपुर श्री रविन्दर सिंह, प्रधान न्यायाधीश, कुटुम्ब न्यायालय श्री मोहम्मद शकील खान, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री आर.एम. भगवती, अधिवक्तागण, जिला न्यायायलय, श्योपुर के सभी न्यायिक अधिकारीगण, जिला विधिक सहायता अधिकारी, कर्मचारीगण, सामाजिक कार्यकर्ता एवं विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।
   जिला न्यायालय श्योपुर में प्रीलिटिगेशन मामलों के लिए विद्युत विभाग, वन विभाग, नगर पालिका, बैंक एवं बी.एस.एन.एल. लैण्डलाईन आदि के प्रकरणों के निराकरण हेतु पृथक-पृथक स्टाल लगाये गये। जिन पर भारी संख्या में लोग अपने निराकरण के लिए स्टालों पर मौजूद थे। साथ ही प्रकरणों में राजीनामा करने पर लोक अदालत स्मृति चिन्ह के रूप में फलदार पौधे पक्षकारों को प्रदान किये गये।
नेशनल लोक अदालत में प्रीलिटिगेशन के विभिन्न विभागों के करीब 381 मामलें निपटाए जाकर राशि रूपये 5491890/- की वसूली की गई। जिसमें विद्युत विभाग के लगभग 182 मामले निराकृत कर 3463000/- राशि की वसूली की। नगर पालिका के लगभग 131 निपटाए जाकर 554802/- राशि की वसूली की गई।
   जिला न्यायालय, श्योपुर एवं तहसील न्यायालय, विजयपुर के न्यायिक अधिकारियों की खण्डपीठों ने कुल 88 मामलों का आपसी सुलह और समझौते से पक्षकारों के मामलों का निराकरण किया गया। जिसमें मोटर दुर्घटना के 06 मामलों में 2530000/- राशि का मुआवजा दिलाया गया तथा चैक बाउंस 6 मामलों में 435888/- राशि तथा आपराधिक प्रकरण के 26 मामलों में निराकरण किया गया एवं विद्युत विभाग के 16 मामलें निराकृत कर 414000/- राशि प्राप्त हुई।
   नेशनल लोक अदालत में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्री अनुराग खरे, एवं खण्डपीठ सदस्य के रूप श्री राजा खान, श्री रईस मोहम्मद तथा अभिवक्ता श्री समीर पठान इसके अलावा परिवार न्यायालय के न्यायाधीश श्री मोहम्मद शकील खान के संयुक्त प्रयास से एवं जिला न्यायाधीश की समझाईश से न्यायालयों में घरेलू हिंसा एवं परिवार विवाद से संबंधित लंबित प्रकरणों में पति-पत्नि के बीच समझौता कराया। जो कि विगत ढे़ड वर्ष के विवाद के चलते पृथक-पृथक निवास कर रहे थे। उक्त पक्षकारों ने भी एक दूसरे को माला पहनाने के पश्चात् समझौता करने वाले न्यायिक अधिकारीगण एवं अधिवक्ता पसीपसीगण का आभार व्यक्त किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें